आरएफ़सी

आरएफ़सी

आरएफ़सी

उद्देश्य
  • भारतीय रिज़र्व बैंक ने विदेश से वापस आनेवाले अनिवासी भारतियों/भारतीय मूल के व्यक्तियों द्वारा भारत में विदेशी मुद्रा में खाता खोलने और बनाए रखने की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से आरएफ़सी योजना बनाई है।
मुद्रा जिसमें खाता खोला जा सकता है
  • केवल यूएसडी, जीबीपी और ईयूआर में
संयुक्त खाता
  • निवासी भारतीय के साथ खोला जा सकता है।
न्यूनतम जमा
  • जमाएँ, निर्दिष्ट मुद्राओं में न्यूनतम एयूडी 1000, सीएडी 1000, यूएसडी 1000, ईयूआर 1000 और जीबीपी 1000 की जमा राशि के साथ खोली जा सकती हैं।
प्रत्यावर्तनीयता
  • हाँ
ब्याज दर
ब्याज पर स्रोत पर कर की कटौती
  • स्रोत पर कर की कटौती नहीं होगी

मियादी जमा पर खाताधारक को भारतीय रुपयों में ऋण

  • अनुमति है, ऋण राशि और मार्जिन की गणना करने के लिए रुपये के सममूल्य की गणना ऋण के संवितरण के समय प्रचलित अनुमानित (नोशनल) दर या बाज़ार दर इनमें से जो भी कम हो के आधार पर की जा सकती है।
नामांकन
  • एनआरई खाताधारक को नामांकन सुविधा दी जा सकती है। केवल एक व्यक्ति को जमाकर्ता/ओं या खाताधारक/कों द्वारा नामित किया जा सकता है।
नियम और शर्तें
  • लागू

Feedback